Best Kaifi Azmi Shayari in Hindi | कैफ़ी आज़मी शायरी - List Bark
May 29, 2020
Kaifi Azmi

Best Kaifi Azmi Shayari in Hindi | कैफ़ी आज़मी शायरी

We have exclusive collection of Best Kaifi Azmi Shayari in Hindi with Images for WhatsApp, Facebook Instagram, Twitter, Pinterest.

Kaifi Azmi Shayari

कैफ़ी आज़मी उर्दू के महान मक़बूल अज़ीम शायरों में से एक थे इनका जन्म उत्तरप्रदेश के जिले आजमगढ़ में हुआ था। यहाँ हम आज़मी की लिखी ग़ज़लों से चुनिंदा शेर पेश कर रहे है।

Kaifi Azmi Shayari in Hindi

Kaifi Azmi Shayari in Hindi

Kaifi Azmi Shayari in Hindi

जिस तरह हँस रहा हूँ मैं पी पी के गर्म अश्क
यूँ दूसरा हँसे तो कलेजा निकल पड़े

इतना तो ज़िंदगी में किसी के ख़लल पड़े
हँसने से हो सुकून न रोने से कल पड़े

अब जिस तरफ़ से चाहे गुज़र जाए कारवाँ
वीरानियाँ तो सब मिरे दिल में उतर गईं

पेड़ के काटने वालों को ये मालूम तो था
जिस्म जल जाएँगे जब सर पे न साया होगा

रहने को सदा दहर में आता नहीं कोई
तुम जैसे गए ऐसे भी जाता नहीं

Kaifi Azmi Shayari

Kaifi Azmi Shayari

Kaifi Azmi Shayari

वक्त ने किया क्या हंसी सितम
तुम रहे न तुम, हम रहे न हम

बेलचे लाओ खोलो ज़मीं की तहें
मैं कहाँ दफ़्न हूँ कुछ पता तो चले

बहार आए तो मेरा सलाम कह देना
मुझे तो आज तलब कर लिया है सहरा ने

रहने को सदा दहर में आता नहीं कोई
तुम जैसे गए ऐसे भी जाता नहीं

जो वो मिरे न रहे मैं भी कब किसी का रहा
बिछड़ के उनसे सलीक़ा न ज़िन्दगी का रहा

Shayari of Kaifi Azmi

Shayari of Kaifi Azmi

Shayari of Kaifi Azmi

पाया भी उन को खो भी दिया चुप भी हो रहे
इक मुख़्तसर सी रात में सदियाँ गुज़र गईं

बस इक झिजक है यही हाल-ए-दिल सुनाने में
कि तेरा ज़िक्र भी आएगा इस फ़साने में

मैं ढूंढता हूँ जिसे वह जहाँ नहीं मिलता
नई ज़मीं नया आसमां नहीं मिलता

इन्साँ की ख़्वाहिशों की कोई इन्तिहा नहीं
दो गज़ ज़मीं भी चाहिए, दो गज़ कफ़न के बाद

बस्ती में अपनी हिन्दू मुसलमाँ जो बस गए
इंसाँ की शक्ल देखने को हम तरस गए

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *